सक्रिय विधायक इंद्रशाह मंडावी के विरोध के बाद शिक्षकों का संलग्नकरण गया ठंडे बस्ते में

सक्रिय विधायक इंद्रशाह मंडावी के विरोध के बाद शिक्षकों का संलग्नकरण गया ठंडे बस्ते में

*विधायक इंद्राशाह मण्डावी के प्रयासों से मोहला मानपुर क्षेत्र के प्रतिनियुक्त शिक्षकों का आदेश हुआ निरस्त*

*जिला शिक्षा अधिकारी ने निरस्त किया वनांचल के शिक्षक का प्रतिनियुक्ति का आदेश*

*वनांचल क्षेत्र की जनता ने किया विधायक मण्डावी का आभार*

 

मोहला-

 

 बीते दिनों स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों के लिए वनांचल क्षेत्र मोहला मानपुर चौकी से भारी मात्रा में शिक्षकों को प्रतिनियुक्त किया गया था। इन शिक्षकों के प्रतिनियुक्ति के बाद वनांचल क्षेत्र के स्कूलों में शिक्षकों की कमी हो गई थी जिसे इंद्रशाह मंडावी विधायक मोहला मानपुर ने तत्काल संज्ञान में लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी को आदेश निरस्त करने के लिए कहा। कई समाचार पत्रों ने भी इसका विरोध किया था। निरस्त न करने पर विधायक ने धरना करने की बात भी की थी। अंततः वनांचल में ग्रामीणों की मांग और विधायक इंद्रशाह मंडावी के पुरजोर विरोध के बाद जिला शिक्षा अधिकारी राजनांदगांव को आदेश निरस्त करना ही पड़ा। मोहला मानपुर क्षेत्र के पेंदोंडी, दोरदे,करमरी, कंदाड़ी, मिस्त्री, पारडी, पाऊरखेड़ा जैसे दूरस्थ वनांचल से शिक्षकों को उठाकर मोहला चौकी जैसे शहरी क्षेत्रों में प्रतिनियुक्ति जिला शिक्षा अधिकारी ने दे दिया था। इन शिक्षकों के हटने से वनांचल के स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी होने लगी थी। अब इस आदेश के निरस्त होने से ग्रामीणों में खुशी की लहर है तथा सभी ने विधायक इन्द्रशाह मंडावी के प्रयासों को सराहनीय बताया है। *ज्ञात हो कि हाई स्कूल मिस्त्री में बहुत सालों बाद अंग्रेजी के व्याख्याता की नियुक्ति शासन ने की थी, जिसे जिला शिक्षा अधिकारी ने प्रतिनियुक्ति में आत्मानंद विद्यालय मोहला में भेज दिया था। जिसका विधायक इंद्रशाह ने पुरजोर विरोध किया था ताकि मिस्त्री जैसे वनांचल के बच्चों को शिक्षा से वंचित ना हो। आदेश निरस्त होने से अब मिस्त्री की अंग्रेजी की शिक्षिका मिस्त्री में ही पढ़ाएगी।* आपको बता दें कि मोहला मानपुर चौकी से भारी मात्रा में शिक्षकों को मुख्यालय में संलग्न करने की अधिकारियों की गलत नीति का विधायक ने काफी विरोध किया था विधायक इंद्रशाह मण्डावी प्रारंभ से ही शिक्षा के प्रति काफी सजग रहे हैं। पूर्व में भी उन्होंने शपथ लेते ही सबसे पहले वनांचल के जो शिक्षक शहरी क्षेत्रों में संलग्न थे, उनको वापस करवाया तथा शिक्षकों की कमी वाले शालाओं में मानदेय में ट्यूटर शिक्षक की नियुक्ति कराया था। आज क्षेत्र की जनता शिक्षा के प्रति काफी जागरूक है जिसका प्रथम श्री विधायक इन्द्रशाह मंडावी को जाता है। विधायक जी के इन सराहनीय प्रयासों को तथा जिला शिक्षा अधिकारी के प्रति नियुक्ति आदेश निरस्त करने को शिक्षाविद और समाजसेवी संजय जैन, जनपद अध्यक्ष लगनू चंद्रवंशी तथा उपाध्यक्ष गमिता लोनहारे ने स्वागत योग्य तथा वनांचल की शिक्षा के लिए लाभदायक बताया है।